Friday, April 19, 2024
Google search engine
HomeMadhya Pradeshshivpuriशिवपुरी की छात्रा का कोटा में अपहरण

शिवपुरी की छात्रा का कोटा में अपहरण

कोटा से NEET की तैयारी कर रही शिवपुरी की छात्रा का अपहरण कर लिया गया। बदमाशों ने उसके पिता के व्हाट्सएप नंबर पर इसकी जानकारी दी। साथ ही, लड़की की फोटो भी भेजी। उसमें लड़की के हाथ-पैर और मुंह बंधे हुए हैं। छात्रा को छोड़ने के बदले में 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई है। छात्रा के पिता शिवपुरी के बैराड़ थाना क्षेत्र में रहते हैं। कोटा पुलिस मामले की जाँच में जुटी हुई है। शिवपुरी एसपी अमन सिंह राठौड़ ने मामले की जानकारी लेने और सहयोग की बात कही है।

जानकारी के मुताबिक बैराड़ में लार्ड लखेश्वर स्कूल के संचालक रघुवीर धाकड़ की बेटी काव्या धाकड़ (20) सितंबर 2023 से कोटा में रहकर NEET की तैयारी कर रही हैं। सोमवार की दोपहर 3 बजे रघुवीर के मोबाइल पर एक व्हाट्सएप मैसेज आया। इसमें छात्रा के हाथ-पैर और मुंह बंधे हुए फोटो थे। कुछ फोटों में छात्रा के चेहरे पर खून भी दिख रहा था। फोटो भेजने वाले ने मैसेज में लिखा कि रघुवीर की बेटी को किडनैप कर लिया गया है। उसे जिंदा छोड़ने की बजाय 30 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई।

मैसेज भेजने वाले ने बैंक खाते की डिटेल भी भेजी। इसमें अकाउंट नंबर 1859010019355 और IFSE कोड BARB0TRANSP भी था। उसने सोमवार शाम तक रुपए जमा करने को कहा है। पिता ने इतने रुपए नहीं होने और बंदोबस्त करने का समय देने की बात कही तो मैसेज भेजने वाले ने छात्रा को मारने की धमकी दी।

पिता बोले- इंदौर में मिल रही थी धमकी, कोटा किया था शिफ्ट छात्रा के पिता रघुवीर धाकड़ ने बताया कि कोटा पुलिस ने रात 3 बजे मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस बेटी की तलाश में जुटी हुई है। रघुवीर धाकड़ ने बताया दो साल पहले बेटी इंदौर में रहकर NEET की तैयारी कर रही थी। जहां पोहरी अनुविभाग क्षेत्र के जरियाखेड़ा गांव के रहने वाले रिंकू धाकड़ ने बेटी को परेशान किया था। इसकी शिकायत इंदौर पुलिस में दर्ज कराई थी। इसके बाद बेटी के नंबर पर अनुराग सोनी और हर्षित नाम के लड़कों से उसे धमकी मिलने लगी थी। इसके बाद बेटी को इंदौर से वापस शिवपुरी बुला लिया था। बेटी 6 माह तक शिवपुरी रही। इसके बाद उसे NEET की तैयारी के लिए कोटा भेज दिया था।

पिता बोले- रविवार रात को मां-बेटी की बात हुई थी रघुवीर ने रिपोर्ट में पुलिस को बताया कि बेटी को सितंबर 2023 में कोटा छोड़कर गए थे। विज्ञान नगर इलाके में स्थित एक कोचिंग संस्थान में उसका एडमिशन करवाया था। इसी इलाके में उसे रूम भी दिलवाया था। आखिरी बार बेटी दीपावली पर घर आई थी। उससे रोज फोन पर बात होती थी। रविवार रात को भी बेटी की उसकी मां से बात हुई थी। तब उसने एग्जाम देकर आने की बात कही थी।

कोटा शहर एसपी अमृता दुहान का कहना है कि लड़की की तलाश और आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस टीमों का गठन किया गया है। कोचिंग संस्थान ने कहा- नहीं था रजिस्ट्रेशन पीडब्ल्यू कोचिंग के कोटा हेड दिनेश जैन ने बताया- लड़की के नाम (काव्या धाकड़) से कोचिंग में कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है। उधार, लड़की के पिता रघुवीर ने कहा कि काव्या का एडमिशन उन्होंने कोचिंग में कराया था। अब कोचिंग संस्थान इससे मना कर रहा है। काव्या टेस्ट देने गई थी। टेस्ट के लिए कोचिंग से मैसेज आया था। इसको लेकर कोचिंग प्रबंधन ने कहा कि कोचिंग से मैसेज नहीं भेजा गया है। कोचिंग संस्थान प्राइवेट नंबरों से मैसेज नहीं भेजता है। इसलिए पूरी घटना के संबंध में कई सवाल उठ रहे हैं।

दूसरी ओर, हॉस्टल संचालक पारस कुमार ने भी काव्या के अपने यहां रहने की बात से इनकार किया है। उन्होंने साफ कहा कि काव्या नाम की लड़की कभी हॉस्टल आई ही नहीं है।

कोटा पुलिस ने एक युवक को राउंडअप किया मामले में पुलिस के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं। कोटा शहर एसपी अमृता दुहान ने बताया कि पुलिस टीमों का गठन कर मामले की जाँच में लगा दिया गया है। सोमवार देर रात घरवाले कोटा पहुंचे। सूत्रों के अनुसार जयपुर के सिंधी कैंप से एक युवक को राउंड अप भी किया गया है। उससे अभी पुलिस जानकारी जुटा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments