Friday, April 19, 2024
Google search engine
HomeMadhya PradeshIndoreइंदौर में पकड़ा गया गुस्साया तेंदुआ

इंदौर में पकड़ा गया गुस्साया तेंदुआ

इंदौर के राजा रमन्ना सेंटर फॉर एडवांस टेक्नोलॉजी (आरआर कैट) कैंपस से एक तेंदुआ को पकड़ लिया गया है। शुक्रवार की सुबह उसे पिंजरे में बंद कर दिया गया। यह 10 साल का तेंदुआ बहुत गुस्से में दिख रहा है। पिंजरे के पास टीम पहुंची तो तेंदुआ गर्राया। पिंजरे की जाली पर झपट्टे भी मारे। वर्तमान में उसे इंदौर के चिड़ियाघर में ले जाया गया है।

कैंपस में पहली बार 10 मार्च को दो तेंदुओं को देखा गया था। रहने वालों को सुबह और शाम के समय अंधेरे में निकलते समय अधिक सावधानी बरतने की सलाह दी गई है। दूसरे तेंदुआ की तलाश जारी है।

वन विभाग के अधिकारी IFS महेंद्रसिंह सोलंकी ने बताया कि दोनों तेंदुओं को पकड़ने के लिए सोमवार से ही प्रयास चल रहे थे। खोज के साथ ही कैट कॉलोनी के घने क्षेत्र में दो पिंजरे लगाए गए थे। उनमें से एक पिंजरे में एक तेंदुआ पकड़ा गया है। उसकी उम्र लगभग 10 साल है। वह भूखा था और भोजन की तलाश में पिंजरे तक आया था। उसने मवेशी को देखकर उसमें प्रवेश किया और कैद हो गया। उसे इंदौर चिड़ियाघर भेज दिया गया है। दूसरे तेंदुओं को पकड़ने के लिए अभी भी दो पिंजरे लगाए गए हैं।

तेंदुओं के पकड़ने के बाद कैट कॉलोनी के निवासियों में कुछ राहत मिली है, लेकिन दूसरे तेंदुओं को नहीं पकड़ने का डर है। वन विभाग का मानना है कि दूसरा तेंदुआ भी भूखा होगा और वह भी जल्दी ही पकड़ा जाएगा। जू इंचार्ज डॉ. उत्तम यादव ने बताया कि तेंदुओं को हाल ही में जू लाया गया है और उनका परीक्षण किया जा रहा है।

वास्तव में, 10 मार्च को रविवार रात कैंपस में दो तेंदुओं के दिखने की सूचना प्रसारित की गई थी। वॉच टॉवर पर तैनात कैट कैंपस में सुरक्षा के लिए तैनात CISF जवान ने उत्तरी बाउंड्री वॉल के पास 2 तेंदुओं को देखा था। इसके बाद सोमवार सुबह इसकी सूचना वन विभाग को दी गई। सूचना प्राप्त होते ही वन विभाग की टीम कैट के लिए उत्तरदायी बनी। वन विभाग की टीम ने पैरों मार्क देखने के बाद पुष्टि की कि ये जानवर तेंदुआ हैं।

1678 एकड़ क्षेत्र में फैला है कैट परिसर

केट कैंपस 1678 एकड़ में फैला हुआ है। इसमें काफी बड़ा खुला क्षेत्र भी है, जो जंगल की तरह है। यहीं पर दो तेंदुओं के दिखने की बात कही जा रही थी। कैंपस में 1 हजार से अधिक परिवार रहते हैं। यहां की सुरक्षा व्यवस्था CISF के पास है। लोगों को सावधानी बरतने के लिए कहा गया है। कैंपस के खुले क्षेत्र में अन्य जानवर भी हैं।

सीसीटीवी फुटेज में कैद नहीं हुआ

कैंपस में तेंदुओं के घूमते हुए सीसीटीवी फुटेज अभी तक सामने नहीं आया है। जहां तेंदुआ दिखाई दिया, वह ओपन एरिया है और वहां कैमरे लगे नहीं हैं। सीसीटीवी से कवर्ड एरिया में तेंदुओं की गतिविधि नहीं ट्रैक की गई। कुछ साल पहले भी कैंपस में तेंदुआ देखा गया था। यह दूसरी बार है जब कैंपस में तेंदुओं की उपस्थिति की जानकारी मिली है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments